Read in English

“संस्कारशाला” मंथन- सम्पूर्ण विकास केन्द्र (SVK) द्वारा आयोजित एक अनूठी कार्यशाला है, जो बच्चों को शिक्षा के साथ- साथ उनमे संस्कारों का पोषण करती है जिससे भविष्य में वे एक अच्छे नागरिक बनकर अपने समाज और देश के निर्माण में भूमिका निभा सके l मंथन- सम्पूर्ण विकास केन्द्र दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान का एक सामाजिक प्रकल्प है जिसके अंतर्गत देश के अभावग्रस्त वर्ग को मूल्य आधारित शिक्षा प्रदान कर उनका सम्पूर्ण विकास किया जाता है l मंथन- संपूर्ण विकास केंद्र द्वारा दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान की शाखाओं के माध्यम से बच्चों में बचपन से ही संस्कारों को रोपित करने हेतु वैश्विक स्तर पर संस्कारशालाओं का आयोजन किया जा रहा है l जून 2022 माह में मंथन- संपूर्ण विकास केन्द्र मुख्यालय की टीम द्वारा उत्तर प्रदेश का दौरा किया गया l जिसमे मंथन मुख्यालय टीम और मंथन प्रकल्प की संयोजिका साध्वी दीपा भारती जी द्वारा उत्तर प्रदेश के बनारस (काशी) , गोरखपुर, और श्रावस्ती जैसे अभावग्रस्त क्षेत्रों में “प्रफुल्लित संस्कारशाला” कार्यशालाओं का आयोजन किया। इस कार्यशाला में 350 से अधिक छात्रों ने उत्साहपूर्वक भाग लिया।

Children from remote Tribals embrace PRAFULLIT SANSKARSHALA - Workshops imbibing Values

इन कार्यशालों की अध्यक्षता साध्वी दीपा भारती जी एवं मुख्यालय टीम द्वारा की गई l प्रफुल्लित संस्कारशाला के अंतर्गत बच्चों को हास्य योग के माध्यम से हर परिस्थिति में प्रसन्न रहने के लिए प्रेरित किया गया तथा यह भी बताया गया कि वास्विक प्रसन्नता का क्या अर्थ होता है l सदैव दूसरों की सहायता करने तथा बड़ों के आदर करने से ही सही रूप से प्रसन्नता को अर्जित किया जा सकता है l कार्यशाला में विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से बच्चों के व्यक्तित्व के नैतिक सौंदर्य और आध्यात्मिक पहलुओं को विकसित करने का प्रयास किया गया । कार्यशाला के अंत में सभी ने साध्वी जी का धन्यवाद दिया जिन्होंने अपने प्रेरणादायक विचारों के माध्यम से बच्चों को जीवन की प्रत्येक परिस्थिति में प्रसन्न रहने की प्रेरणा दी l

Children from remote Tribals embrace PRAFULLIT SANSKARSHALA - Workshops imbibing Values

Subscribe Newsletter

Subscribe below to receive our News & Events each month in your inbox