Read in English

किसी ने उचित कहा है कि "जीवन को वर्षों पर नहीं अपितु गुणवत्ता के आधार पर परिभाषित किया जा सकता है”। जीवन में श्रेष्ठ गुणों की प्राप्ति तभी संभव है, जब हम अपने मूल अर्थात् आत्मा से संबंध स्थापित कर लें।

लोगों को मूल स्रोत से जोड़ने के लिए, 26 जनवरी, 2019 को लुधियाना, पंजाब में "भज गोविंदम" विषय पर भक्ति संगीत कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जब मानवीय हृदय परमात्मा से प्रेम की डोर बांध लेता है, तब वह प्रभु के गुणों, समर्पण, वैराग्य और भक्ति के भाव को गुनगुनाता है। इन्हीं दिव्य भावनाओं से ओतप्रोत भजनों को सुन भक्तों का हृदय झूम उठता है। प्रभु महिमा से उठे सुरों का स्पंदन, वातावरण में शुद्धता, शांति और स्फूर्ति प्रदान कर सकता है।

सर्व श्री आशुतोष महाराज जी की शिष्या व कार्यक्रम की आध्यात्मिक प्रवचनकर्ता साध्वी सुमेधा भारती जी ने प्रभावशाली रूप से समझाया कि प्रत्येक सांस में समाहित प्रभु का वास्तविक नाम नकारात्मकताओं और पापों को समाप्त कर, हमें सभी बन्धनों से मुक्त कर सकता है। हमारे भीतर आध्यात्मिक खज़ाने भरे है, परन्तु हम ज्यादातर समय बाहरी दुनिया के साधनों को एकत्र करने में व्यय कर देते है। हम अपने भीतर मौजूद ज्ञान के असाधारण रत्नों को नजरअंदाज कर मात्र भौतिक संपत्ति को पाने की इच्छा में दुखी होते रहते हैं। जिस तरह गरीब व्यक्ति यदि किसी आमिर आदमी के वस्त्र पहन ले तो वह वास्तविक जीवन में समृद्ध नहीं हो जाता उसी प्रकार जब तक हम ईश्वर का संग नहीं कर लेते तब तक शांति व सुख से सम्पन्न नहीं हो सकते। परन्तु आज हमने स्वयं को मात्र भौतिकवादी जीवन के अधीन कर लिया है।

साध्वी जी ने मानव जीवन के वास्तविक उद्देश्य को भक्तों के समक्ष रखते हुए कहा कि सभी पवित्र ग्रंथों ने स्वीकार किया है कि मनुष्य ईश्वर की सर्वोच्च कृति है। यही वह तन है जिसके माध्यम से ईश्वर को जाना जा सकता है। जिस समय मानव अपनी वास्तविक प्रकृति “आत्मा” का अनुभव कर लेता है तब उसकी आध्यात्मिक यात्रा सार्थक होती है। एक प्रबुद्ध और पूर्ण सतगुरु की कृपा द्वारा ही आत्मा के अनुभव का मार्ग प्राप्त होता है। मानव, अंतर्जगत में परमात्मा का प्रत्यक्ष अनुभव कर सद्गुणों के केंद्र से जुड़ पाता है और तभी वह आदर्श, निर्दोष और श्रेष्ठ व्यक्तित्व निर्माण की दिशा में कदम बढ़ाता है।

यह भक्ति से परिपूर्ण संध्या आध्यात्मिक यात्रा की नई शुरुआत के उद्देश्य से की गई थी। कार्यक्रम के दौरान लोगों ने गूढ़ तथ्यों को जान, दिव्य शांति का अनुभव किया।
 

Devotional Concert 'Bhaj Govindam' Attuned the People of Ludhiana, Punjab to the Eternal Powerhouse Within

Devotional Concert 'Bhaj Govindam' Attuned the People of Ludhiana, Punjab to the Eternal Powerhouse Within

Subscribe Newsletter

Subscribe below to receive our News & Events each month in your inbox