Read in English

नूरमहल, पंजाब : 14 नवंबर, 2021 को दिव्य गुरु श्री आशुतोष महाराज जी द्वारा संस्थापित एवं संचालित दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान ने अपनी साप्ताहिक वेबकास्ट श्रृंखला का 85वां संस्करण प्रस्तुत किया, जिसका विषय था "जीवन में निर्णय लेने का महत्व"। कार्यक्रम को संस्थान के यूट्यूब [www.youtube.com/djjsworld] और फेसबुक [www.facebook.com/djjsworld] चैनलों के माध्यम से प्रसारित किया गया। हजारों की संख्या में लोगों ने आध्यात्मिक क्षुधा की शांति हेतु अपने घरों से ही कार्यक्रम में डिजिटल माध्यम से भाग लिया। कार्यक्रम का प्रसारण सबकी सुविधा के लिए दिन में दो बार - सुबह 10 बजे से दोपहर 1 बजे तक [IST] एवं सायं 7 बजे से रात 10 बजे तक [IST] किया गया।

DJJS Delineates the Prerequisites & Significance of Effective Decision Making in its 85th Weekly YouTube Webcast

दिव्य गुरु श्री आशुतोष महाराज जी की शिष्या साध्वी राजविंदर भारती जी ने कार्यक्रम की शुरुआत प्रेरणादायक विचारों के साथ की और जीवन में ईश्वर की अनंत कृपाओं के लिए सभी को उनका आभारी होने के लिए प्रोत्साहित किया। इसके साथ दिव्य गुरु श्री आशुतोष महाराज जी के प्रचारक शिष्यों द्वारा गाए गए भावपूर्ण भक्ति गीतों ने सभी के मानस पटल पर गुरुदेव की मधुर यादों को पुनर्जीवित कर दिया।

DJJS Delineates the Prerequisites & Significance of Effective Decision Making in its 85th Weekly YouTube Webcast

इसके बाद, दिव्य गुरु श्री आशुतोष महाराज जी के शिष्य स्वामी विज्ञानानंद जी द्वारा अद्भुत आध्यात्मिक प्रवचन प्रदान किए गए, जिसमें विभिन्न युगों [सत्य युग, त्रेता युग, द्वापर युग और कलियुग] के समर्पित शिष्यों के जीवन से जुड़े प्रेरक उदाहरण रखे गए। उन्होंने समझाया कि कैसे अतीत में कठिन परिस्थितियों में लिए गए विवेकपूर्ण निर्णयों ने कुछ शिष्यों का नाम इतिहास के पन्नों में दर्ज़ कर दिया, जो आज भी एक प्रेरणा के रूप में काम करते हैं। जीवन में आध्यात्म के महत्व को रेखांकित करते हुए उन्होंने कहा, "आध्यात्म हमें गलत निर्णय लेने के बाद स्थिति का प्रबंधन करना नहीं, बल्कि, गलत निर्णय न लेने की कला को सिखती है।"

इसके अतिरिक्त, उन्होंने प्रभावी निर्णय लेने की कला पर प्रकाश डाला, जिसमें शिष्यों को पूर्ण आध्यात्मिक गुरु द्वारा प्रदत्त चार आज्ञाओं - सुमिरन, ध्यान, सेवा और सत्संग के पालन को मुख्य बताया। दिव्य गुरु श्री आशुतोष महाराज जी के शिष्यों द्वारा अपने घरों में एक घंटे के ध्यान सत्र के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ, साथ ही डीजेजेएस के वेब चैनलों पर पवित्र वेद मंत्रों को चलाया गया, जिसने पर्यावरण को सकारात्मकता से स्पंदित कर दिया।

अवश्य देखें, COVID महामारी के चलते संस्थान द्वारा चलाई गई साप्ताहिक वेबकास्ट श्रृंखला की 85वीं कड़ी की फोटो हाईलाइट्स।

नियमित रूप से आध्यात्मिक विचारों से जुड़े रहने हेतु डीजेजेएस के यूट्यूब चैनल को अभी सब्सक्राइब करें - https://www.youtube.com/djjsworld और घंटी के चिन्ह को दबाएँ।

दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान दिव्य गुरु श्री आशुतोष महाराज जी द्वारा संस्थापित एवं संचालित, विश्व में शांति एवं बंधुत्व की स्थापना हेतु कार्यरत एक सामाजिक व आध्यात्मिक संस्थान है; जो अपने नौ मुख्यतः सामाजिक प्रकल्पों [महिला सशक्तिकरण कार्यक्रम; साक्षरता अभियान; सम्पूर्ण स्वास्थ्य कार्यक्रम; नशा उन्मूलन कार्यक्रम; पर्यावरण संरक्षण कार्यक्रम; भारतीय देसी गौ संवर्धन एवं नस्ल सुधार कार्यक्रम; आपदा प्रबंधन कार्यक्रम; बंदी सुधार कार्यक्रम और नेत्रहीन एवं दिव्यांगों का सशक्तिकरण कार्यक्रम] द्वारा वैश्विक समाज में व्यापक परिवर्तन ला रहा है।

Subscribe Newsletter

Subscribe below to receive our News & Events each month in your inbox