Read in English

मंथन- संपूर्ण विकास केन्द्रों द्वारा अभिभावकों को शिक्षा, स्वास्थ्य एवं दैनिक व्यवहार के प्रति जागरूक करने के लिए 25 अप्रैल 2019 को मंथन के सभी केन्द्रों में अभिभावक जागरूकता कार्यशाला का आयोजन किया गया I अभिभावक जागरूकता दिवस वैश्विक स्तर पर मनाया जाता है जिसका उद्देश्य जिम्मेदार अभिभावक और सकारात्मक अभिभावक रोल मॉडल बनाना है। यह अभिभावकों और उनके बच्चों के बीच प्यार के विशेष बंधन को व्यक्त करता हैI

Parent awareness day celebrated @Manthan-SVK in the month of April 2019

मंथन-संपूर्ण विकास केंद्र, दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान का एक सामाजिक प्रकल्प है जो देश के प्रति अपने कर्तव्य को समझते हुए देश के अभावग्रस्त बच्चों को निशुल्क मूल्याधारित शिक्षा प्रदान कर उनके संपूर्ण विकास हेतु कई वर्षों से कार्यरत है I बच्चों के साथ-साथ उनके अभिभावकों के लिए भी मंथन द्वारा समय-समय पर कई जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता हैI

Parent awareness day celebrated @Manthan-SVK in the month of April 2019

दिल्ली के रिठाला संपूर्ण विकास केंद्र में Ms. Uma Narayanan Ji,  Professional Counsellor  द्वारा बच्चों के साथ ‘Tag Me’ activity करवाई जिसमे बच्चों ने अपने गुण तथा अवगुण को लिखा I उमा जी द्वारा बच्चों को उनके अवगुणों को दूर करने का उपाय दिए गए I अभिभावकों को उनके बच्चों के स्वास्थ्य के विषय में जागरूक किया तथा उनसे कम खर्च में किस प्रकार घरेलू उपाय द्वारा स्वास्थ्य को बनाये रखा जा सकता है इस विषय पर चर्चा की I इसके अतिरिक्त मंथन के अन्य केन्द्रों में भी विभिन्न गतिविधियाँ आयोजित की गयी जैसे आँख पर पट्टी बाँध कर सभी बच्चों में से अपने बच्चे को पहचानना, अभिभावकों को विभिन्न परिस्थितयों में रख कर उनकी प्रतिक्रिया को परखना आदि I इसके अलावा जिन केन्द्रों में स्वास्थ्य शिविर लगाया गया था वहां के अभिभावकों से यह सुनिश्चित किया गया कि डॉक्टर द्वारा लिखित दवाएं उन्होंने बच्चों को दी या नहीं, एवं अगर किसी बच्चे का आधार कार्ड, बैंक अकाउंट इत्यादि न हो तो अभिभावकों को उन्हें बनाने की प्रक्रिया के विषय में जानकारी देना I उन्हें आपातकाल नंबर जैसे अग्नि सेवा, बाल शोषण सहायता, इत्यादि की जानकारी भी दी गयी I सत्र के उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए बच्चे के मनोविज्ञान पर स्वच्छता के प्रभाव के बारे में भी चर्चा की गयी जिसके बाद बाल दुर्व्यवहार और POCSO (यौन अपराधों से बच्चों के संरक्षण) पर गहन चर्चा हुई I सत्र के अंत में प्रतिभागियों के बीच पुरस्कार भी वितरित किये गए I

Subscribe Newsletter

Subscribe below to receive our News & Events each month in your inbox