Read in English

दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान  के युवा सशक्तिकरण प्रकल्प, SAM Workshops, ने 10 दिसंबर, 2021 को अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस के उपलक्ष्य पर Sikkim Alpine University के एक दिवसीय राष्ट्रीय मानवाधिकार संगोष्ठी में भाग लिया ।

SAM at virtual Human Rights National Symposium, Sikkim Alpine University

SAM ने अपने इन-हाउस फ्यूजन बैंड, Eternal Bliss द्वारा एक भावपूर्ण संगीतमय प्रस्तुति के साथ अपना आगाज़ किया । तत्पश्चात परम पूज्नीय श्री आशुतोष महाराज जी की शिष्या साध्वी डॉ. निधि भारती जी ने श्रोताओं के समक्ष  मानवाधिकार और अध्यात्म के संबंध पर अपने विचार रखे। साध्वी जी ने समझाया कि कैसे सभी व्यक्तियों के मानवाधिकारों की रक्षा सुनिश्चित करने के लिए अध्यात्मिक जीवन को विकसित करना महत्वपूर्ण है। जब लोग आध्यात्मिक रूप से विकसित होते हैं, तभी उनके विचार एवं कार्य भी विकसित होते हैं और तभी वे वास्तव में अपने अधिकारों के साथ दूसरों के अधिकारों को भी महत्व देना शुरू करते हैं।

SAM at virtual Human Rights National Symposium, Sikkim Alpine University

इस संगोष्ठी में उपस्थित विभिन्न कार्य क्षेत्रों के गणमान्य व्यक्तियों की सूची में सुश्री माजा दारूवाला, वरिष्ठ सलाहकार, कॉमनवेल्थ ह्यूमन राइट्स इनिशिएटिव (सीएचआरआई) और श्री हेनरी टिफागने, आपराधिक वकील और कार्यकारी निदेशक, पीपुल्स वॉच (एक राष्ट्रीय मानवाधिकार संगठन), के भी नाम शामिल रहे।

सत्र का संचालन करते हुए श्री पेमा वांगचुक, सिविल सोसाइटी  के सदस्य और परामर्श संपादक, Summit Times, ने SAM द्वारा किए गए प्रयासों की बहुत सराहना की।

 संगोष्ठी में सम्पूर्ण भारत के विभिन्न विश्वविद्यालयों के छात्रों ने भाग लिया। इस कार्यक्रम को क्षेत्र के प्रमुख समाचार पत्रों और मीडिया संस्थानों द्वारा व्यापक कवरेज मिला।

Subscribe Newsletter

Subscribe below to receive our News & Events each month in your inbox