Read in English

दिल्ली, सेक्टर- 15 शाखा द्वारा 5 सितम्बर से 11 सितम्बर तक विशाल स्तरीय श्रीमद्भागवत ज्ञान यज्ञ का आयोजन हुआ| कथा का वाचन सर्व श्री आशुतोष महाराज जी की शिष्या भागवताचार्य साध्वी सुश्री आस्था भारती जी ने किया| साध्वी जी ने कथा वाचन करते हुए अनेक तथ्यों को श्रद्धालुओं के समक्ष रखा| उन्होंने बताया कि प्रभु को मात्र बुद्धि द्वारा जानने सम्भव नहीं है| ईश्वर को जानने के लिए हमें गुरु द्वारा प्रदत ब्रह्मज्ञान की अनिवार्यता है| साध्वी जी ने कन्या भ्रूण हत्या, नशे की समस्या, बिगड़ते पर्यावरण व् दिग्भ्रमित होते युवाओं जैसी अनेक समाजिक कुरीतियों पर भी चर्चा करते हुए उनके उन्मूलन पर जोर दिया| उन्होंने बताया की आज सम्पूर्ण विश्व इन समस्याओं से जूझ रहा है व् इन्हें समाप्त करने के लिए नए- नए प्रयास कर रहा है, परन्तु सब विफल हो रहा है| ब्रह्मज्ञान ही मात्र समाज में व्याप्त हर कुरीति को समाप्त कर सकता है| इसलिए आज समाज को ब्रह्मज्ञान की नितांत आवश्कता है| कथा में कई प्रबुद्ध हस्तियों ने शिरकत की| देश भक्ति, गुरू भक्ति, अध्यातम और नैतिक मूल्यों के प्रति प्रेरित करने वाली इस कथा को सुनकर भक्त जन आनंद से झूम उठे| कथा के मुख्य आकर्षण रहे- श्री कृष्ण जन्मोत्सव, होली उत्सव, गोवर्धन पूजा व श्री कृष्ण रुक्मणि विवाहोत्सव| इस कथा की Coverage अक्षर वार्ता, जुल्म से जंग, जगत क्रान्ति, एक्शन इंडिया, दैनिक जागरण, मेरी दिल्ली, AV NEWS, धर्म प्रवाह, दैनिक ख़बरें, वन डे प्रेस आदि समाचार पत्रों द्वारा की गयी|

Divine Aura of Bliss Experienced in Bhagwat Katha at Burari, Delhi

Divine Aura of Bliss Experienced in Bhagwat Katha at Burari, Delhi

Subscribe Newsletter

Subscribe below to receive our News & Events each month in your inbox