Read in English

दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान एक सामाजिक एवं अध्यात्मिक संस्थान है जो पिछले कई दशकों से समाज के सामाजिक एवं अध्यात्मिक उत्थान हेतु कार्यरत हैI संस्थान द्वारा संचालित अनेक सामाजिक प्रकल्पों में से मंथन- संपूर्ण विकास केंद्र एक ऐसा प्रकल्प है जो अभावग्रस्त वर्ग के बच्चों को नि:शुल्क एवं मूल्य आधारित शिक्षा प्रदान करने के लिए कई वर्षों से कार्यरत है। संपूर्ण विकास का अर्थ है- शारीरिक, मानसिक, बौद्धिक एवं अध्यात्मिक विकास।

Inauguration ceremony of new Branch of DJJS and Manthan - Sampoorna Vikas Kendra in Gurugram, Haryana

सामाजिक कल्याण के इस प्रयास मे एक और कड़ी जोड़ते हुए दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान एवं मंथन- सम्पूर्ण विकास केंद्र की नई शाखा का उद्घाटन समारोह, 29 दिसंबर 2019 को, दोपहर 1 से 4 बजे तक, स्पेनिश कोर्ट, गुरुग्राम में आयोजित किया गया था।

Inauguration ceremony of new Branch of DJJS and Manthan - Sampoorna Vikas Kendra in Gurugram, Haryana

कार्यक्रम में अतिथि के रूप में Mr. Sudhir Singla, MLA Gurugram, Haryana, Ms. Sunita Yadav- Deputy Mayor, Haryana, Ms. Pramila Kablana- Sr. Deputy Mayor, Haryana, Mr. Sanjay Gokal- Director-SKS group of companies, Jalandhar, Punjab, Mr. Mayank Tokas- Child to Champion pvt. Ltd., Haryana, Mr. Pradeep Sharma- RSS Sampark Pramukh, Mr. Haryana Rakesh Yadav– Councillor Dharm Colony Gurugram, Haryana, Mr. Ram Dhanduna, MD, DD Polymers, Haryana और दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान (DJJS) के प्रचारक स्वामी नरेन्द्रानंद जी, स्वामी आदित्यानंद जी, साध्वी दीपा भारती, साध्वी आस्था भारती जी एवं साध्वी मृदुला भारती जी उपस्थित रहे।

कार्यक्रम का शुभारम्भ वेद पाठ के पवित्र गायन के साथ हुआ जिसके बाद दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान (DJJS) के प्रचारक शिष्यों एवं उपस्थित अतिथियों द्वारा दीप प्रज्जवलन की प्रक्रिया को पूरा किया गया। समाज को अध्यात्म के प्रति जागरूक करने के लिए प्रेरणादायी भजन संकीर्तन कार्यक्रम भी आयोजित किया गया। इसके बाद मंथन के नन्हें- नन्हें बच्चों ने “गणेश वंदना” पर नृत्य प्रस्तुत किया । स्वामी नरेन्द्रानंद जी ने उपस्थित दर्शकों एवं अतिथियों को संस्थान द्वारा चलाये जा रहे विभिन्न सामाजिक प्रकल्पों के प्रति जागरूक किया और मंथन प्रकल्प पर प्रकाश डालते हुए बताया कि किस प्रकार मंथन बच्चों को भौतिक शिक्षा के साथ-साथ आध्यात्मिक शिक्षा प्रदान कर, उन्हें अंदर और बाहर दोनों ओर से स्थिरता प्रदान कर एक संस्कारी और सुगठित समाज की स्थापना करने में योगदान कर रहा है I क्योंकि जब एक बच्चा उत्कृष्ट शिक्षा और नैतिकता के साथ आगे बढ़ेगा तभी देश का विकास होगा। इसके बाद बच्चों को नि:शुल्क स्कूल बैग वितरित किये गए। कार्यक्रम में बच्चों ने “उड़ने तो दो ऊँची उड़ानें” गीत पर एक प्रेरणास्पद नृत्य-नाटिका कर सभी के सामने बालश्रम और बाल-उत्पीड़न की समस्या को रखते हुए, उन्हें समझाने का प्रयास किया कि बाल अधिकारों के प्रति सजगता ही एक सुखी और समृद्ध राष्ट्र की प्रथम आवश्यकता है। श्री सुधीर सिंगला जी ने अपने प्रेरणादायक विचारों द्वारा समाज को शिक्षा का महत्त्व बताते हुए मंथन के प्रयासों की भरपूर सराहना की I

अंत में सभी अतिथियों द्वारा दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान, मंथन संपूर्ण विकास केंद्र और प्रशिक्षण- सिलाई केंद्र का विधिवत उद्घाटन किया गया I

कार्यक्रम को अंतिम रूप देते हुए दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान (DJJS) के संस्थापक व संचालक सर्व श्री आशुतोष महाराज जी के चरणों में नमन अर्पित किया गयाI

Subscribe Newsletter

Subscribe below to receive our News & Events each month in your inbox