Read in English

देशभर में संस्थान द्वारा हर माह विशाल स्तरीय सत्संग कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है| इन सत्संग कार्यक्रमों में भारी संख्या में श्रद्धालु उपस्थित हो भक्ति मार्ग पर बढ़ने के लिए प्रेरित होते हैं| इसी श्रृंखला में पंजाब, नूरमहल शाखा द्वारा हर माह के दुसरे रविवार को विशाल स्तरीय सत्संग कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है| 11 सितम्बर को “हे साधको” theme पर प्रेरणादायक विचारों को प्रदान किया गया| स्वामी गुरुकृपानंद जी व् स्वामी परमानन्द जी ने अपने विचारों में सैनिक का उदहारण देते हुए बताया की सैनिक अपने देश की सुरक्षा के लिए रात- दिन कठोर परिश्रम करता है| उसी प्रकार सेवक व् साधक को भी रात- दिन सतत प्रयास करना पड़ता है| सतत परिश्रम के परिणामस्वरुप ही धैर्य, सकारात्मकता, भक्ति, विश्वास व् निर्मलता जैसे गुणों को धारण कर सच्चा साधक बना जा सकता है| एक साधक को ईश्वर रूपी लक्ष्य पाने हेतु दृढ़ता व् उत्साह की नितान्त आवश्कता है| साथ ही प्रेरणादायक भजनों ने भक्तों में उत्साह का संचार किया| कार्यक्रम में अंत में भक्तों ने नई ऊर्जा व् सकारात्मकता का अनुभव किया|

Monthly Spiritual Congregation Infusing Divinity in Masses at Nurmahal, Punjab

Monthly Spiritual Congregation Infusing Divinity in Masses at Nurmahal, Punjab

Subscribe Newsletter

Subscribe below to receive our News & Events each month in your inbox