Watch Shri Ram Katha, Patna, Bihar, Day-6 by Sadhvi Shreya BhartiWATCH NOW

आया मौसम कूल-कूल पीने का!

मई का महीना-गर्मी जोरों-शोरों से दस्तक देने लगी है। कड़कती धूप, उच्च तापमान, लू के थपेड़े, सूरज की चुभती किरणें- शरीर को तपाने और सुखाने लगती हैं। मानव शरीर का सारा पानी ही सोख लेती हैं। अत्यधिक पसीना आने से शरीर में नमक और अन्य पोषक तत्त्वों की भी कमी हो जाती है। ऐसे में कई बीमारियाँ शरीर पर हमला बोलने को तैयार रहती हैं। 

परंतु घबराइए मत, 'सेहत सार' के इस खण्ड में हम आपके लिए लेकर आए हैं, इस भीषण गर्मी के चक्रव्यूह को भेदने वाले अमोघ बाण! ये बाण हैं- ताज़े और शीतल पेय पदार्थ... गर्मी को मात देने के लिए इनसे अधिक गुणकारी और पोषक पदार्थ नहीं हो सकते। ये पेय पदार्थ मात्र शरीर में पानी को कमी को ही पूरा नहीं करते, बल्कि ज़रूरी तत्त्व भी प्रदान करते हैं। तो आइए जानते हैं, इन शरबतों को बनाने की विधि तथा इनके लाभ!

आम पन्ना

बनावटी रंगों व कैमिकल्स को मिलाकर बनाया गया आम का रस या जूस, वह लाभ नहीं दे सकता जो कि घर में बना आम का पन्ना देता है। आम पन्ना बनाने के लिए कच्चे आमों की आवश्यकता होती है, जो इस मौसम में आसानी से मिल जाते हैं। इसको बनाने की विधि बड़ी सरल है।

विधि-

१. २-३ बड़े कच्चे आमों को अच्छी तरह धोकर छील लें।

२. इन छीले हुए आमों को पानी में उबाल लीजिए।

३. अब गूदे को...

लाभ-

१. आम पन्ना गर्मी तथा लू के प्रभाव से बचाकर शरीर के तापमान को स्थिर रखने में बहुत सहायक होता है।

२. अत्यधिक पसीना आने से...

३. आम पन्ना में अत्यधिक मात्रा में विटामिन सी होने के कारण ...

४. यह क़ब्ज़ और बदहज़मी को भी...

इसकी और अन्य पेय पदार्थों जैसे फालसे का शर्बत, लस्सी, सत्तु, गुलाब शर्बत ... की विधिवत्त विधि एवं उनसे प्राप्त लाभों की पूर्णतः जानकारी के लिए पढ़िए मई माह की हिन्दी अखण्ड ज्ञान मासिक पत्रिका!

Need to read such articles? Subscribe Today