Read in English

Auditorium Multi art and culture centre, कुरुक्षेत्र, हरियाणा में 6 मई को और गीता मंदिर, sec. 2,  न्यू नंगल, रूपनगर, पंजाब में 7 मई को भजन संध्या आयोजित की गई| सुमधुर भजनों में पिरोये सुंदर भावों ने श्रद्धालुओं के हृदयों को प्रभु प्रेम से सींचा| कुरुक्षेत्र, हरियाणा में साध्वी सुमेधा भारती जी व रूपनगर, पंजाब में साध्वी रूपेश्वरी भारती जी ने भजनों में छिपे भावों से प्रभु के अलौकिक प्रेम को पाने की राह सुझाई| उपस्थित श्रधालुओं को समझाते हुए कहा गया कि भगवान को जाने बिना भक्त और भगवान का प्रेम पानी में मिले तेल जैसा है| दोनों ही यूँ तो दिखने में साथ हैं पर फिर भी एक-दूसरे में मिले नहीं| मानव अपने भीतर मौजूद उस प्रभु को देखकर ही उसके स्नेह की सतत धार में सदा भीगा व आनंदित रह सकता है| पुरातन काल के बहुत से भक्तों का साध्वी जी ने उदाहरण देते हुए सभी को भक्ति के मार्ग पर बढ़ने के लिए प्रेरित किया| कार्यक्रम में उपस्थित लोगों ने संस्थान के सामाजिक प्रकल्पों की भी जानकारी हासिल की| 

Jagrati, a Devotional Concert of Inner Awakening at Kurukshetra, Haryana

Jagrati, a Devotional Concert of Inner Awakening at Kurukshetra, Haryana

Subscribe Newsletter

Subscribe below to receive our News & Events each month in your inbox