Read in English

बंदी सुधार एवं पुनर्वास कार्यक्रम- अंतरक्रांति कैदियों के सामाजिक उत्थान के साथ आध्यात्मिक उत्थान के लिए भी प्रयासरत है| श्री आशुतोष महाराज जी की कृपा से आज कैदियों को जेल की सलाखों के पीछे ही ब्रह्मज्ञान देकर उन्हें आध्यात्मिक पथ पर बढ़ाया जा रहा है| जिसके अंतर्गत सत्संग प्रवचन व भजन संकीर्तन से इन लोगों को हमेशा के लिए जुर्म का रास्ता छोड़ एक नेक इंसान बनने के लिए प्रेरित किया जाता है| अक्सर ऐसे विचारों को सुन ये कैदी ब्रह्मज्ञान को भी पाते हैं| जो कि उनके जीवन में सुधार व पश्चाताप का एक सशक्त माध्यम साबित होता रहा है| इसी के चलते 8 दिसम्बर को राजस्थान स्थित गंगानगर केन्द्रीय कारागार में एक दिवसीय कायर्क्रम आयोजित किया गया| स्वामी धीरानंद जी, साध्वी गार्गी भारती जी और साध्वी सोनिया भारती जी ने कैदियों के समक्ष बहुत से आध्यात्मिक विचार प्रस्तुत किए| लगभग 195 कैदियों ने इस कार्यक्रम में भाग लिया| कार्यक्रम के अंत में, जेल प्रशासन ने संस्थान का आभार भी प्रकट किया| वहीं कैदियों को स्वास्थ्य लाभ पहुँचाने की मंशा से पंजाब, अमृतसर केन्द्रीय कारगार में 3 दिवसीय ‘विलक्षण योग शिविर’ आयोजित किया गया| श्री आशुतोष महाराज जी के शिष्य योगाचार्य राजकुमार जी व स्वामी रंजीतानंद जी ने कैदियों को योग के लाभ बताते हुए योगासन व प्राणायाम भी सिखाया| साथ ही, ध्यान सत्र का भी आयोजन रहा| लगभग 140 कैदियों को लाभ पहुँचाने वाले इस कार्यक्रम से ‘Chief Judicial Magistrate श्री गिरीश बंसल जी’ व  Jail Superintendent श्री आशीष कपूर जी खासा प्रभावित नजर आए| ‘दैनिक भास्कर’, ‘पंजाब केसरी’, ‘दैनिक सवेरा टाइम्स’ और ‘दैनिक जागरण’ समाचारपत्रों ने कार्यक्रम की खूब coverage की|

Yoga & Dhyan Camp Organized @ Central Jail - Amritsar, Punjab

Yoga & Dhyan Camp Organized @ Central Jail - Amritsar, Punjab

Subscribe Newsletter

Subscribe below to receive our News & Events each month in your inbox