कहीं रिश्तों में भूचाल न आ जाए!

कलयुग में सच्चे रिश्ते बन पाना और उन्हें कायम रख पाना, शायद सबसे बड़ी चुनौती भरा काम है। ज़रा सी गड़बड़ रिश्तों में भूचाल ला सकती है। जिन रिश्तों को बनाने में सालों लग जाते हैं, उन्हें चटकने में मिनट भी नहीं लगता। इसलिए आपको बड़ी समझदारी से इन्हें सहेजकर रखना आना चाहिए। वह कला आनी चाहिए, जो आपके हर रिश्ते को मजबूती दे सके। तो आइए, इस कला की कुछ ज़रूरी टिप्स जानें-

... आजकल use & throw का ज़माना है। जैसे ही किसी वस्तु में कोई खामी आई नहीं कि उसे फेंक दिया। परन्तु जीवन के कोई संबंध कोई वस्तु नहीं हैं, जिन्हें कभी भी छोड़ दिया जाए। इसलिए use & throw का सिद्धांत कभी संबंधों पर लागू करने की भूल मत करना। यदि किसी संबंध में कोई खामी आ जाए, तो क्षमा का भाव रखें और अपने संबंधों की डोर को मजबूती दें।

... आजकल हर संबंध में, चाहे वह मित्रता का हो या माता-बच्चे का, पति-पत्नि का हो या भाई-बहन का, सभी में अस्थिरता के लक्षण दिखाई देते हैं। आखिर क्यों? क्यों हम संबंधों की सीमाओं में रह नहीं पाते? इसे हम वैज्ञानिक स्तर पर कैसे समझ सकते हैं?

यह सब समझने और जानने के लिए और बाकी सभी ज़रूरी टिप्स जिससे हम अपने रिश्तों में भूचाल आने से रोक सकें,पढ़िए अखण्ड ज्ञान हिन्दी मासिक पत्रिका का फरवरी 2013 अंक।

Need to read such articles? Subscribe Today