Read in English

गुरुदेव श्री आशुतोष महाराज जी की विशेष अनुकम्पा से 20 फरवरी 2019 को डीजेजेएस द्वारा  कुम्भ मेला, प्रयागराज में भव्य कुम्भ समापन समारोह का आयोजन किया गया। दिव्य कुम्भ महोत्सव के आरम्भ से ही ब्रह्मज्ञान के दिव्य सन्देश के साथ डीजेजेएस ने लाखों भक्त श्रद्धालुगणों के भीतर एक विशेष स्थान प्राप्त किया। ब्रह्मज्ञान के दिव्य सन्देश को कुम्भ समापन के अवसर पर भजन संध्या एवं "दशानन अभी मरा नहीं" नामक नाटिका के माध्यम से पुनः दुहराया गया। साध्वी तपेश्वरी भारती जी ने इस प्रेरणादायी नाटिका के सार को सभी के समक्ष रखा। समापन समारोह का अंत, डीजेजेएस की इस यात्रा को प्रभावी एवं कुशल बनाने वाले सहयोगी एवं सेवादारों को प्रमाणपत्र वितरण के साथ किया गया।

Stunning Finale of the Divine Kumbh at Kumbh Mela, Prayagraj 2019

रावण के 10 सिर संकेत है मनुष्य के भीतर पनप रहे वासना, क्रोधावेश, आकर्षण, लालच, अभिमान, ईर्ष्या, स्वार्थ, अन्याय, क्रूरता और अहंकार जैसे दुर्गुणों के जिसे इस नाटिका के माध्यम से दर्शाया गया एवं इससे निपटने की आवश्यकता पर बल दिया गया। आज इन्हीं दुर्गुणों के कारण मनष्य के भीतर संतुष्टि एवं संतोष जैसे गुणों का अभाव है। इन दुर्गुणों से बचाव का उपाय है कि मनुष्य अपने भीतर सद्गुणों का संग्रह करे जिसके लिए उसे आत्मोन्मुख होना पड़ेगा।  केवल आत्म जाग्रति के माध्यम से मनुष्य परमानन्द को प्राप्त कर सकता है।

Stunning Finale of the Divine Kumbh at Kumbh Mela, Prayagraj 2019

किन्तु आत्मोन्मुख होने का मार्ग क्या है? इसका केवल एक ही मार्ग है और वह है ब्रह्मज्ञान। इस ब्रह्मज्ञान की प्राप्ति एक पूर्ण गुरु की शरणागति के बिना असंभव है। एक पूर्ण गुरु ही शिष्य के दिव्यचक्षु को खोल उसे ब्रह्मज्ञान प्रदान करते हैं। एक आत्मजागृत साधक ही आत्मोन्नति की ओर अग्रसर हो पाता है और उसके भीतर सद्गुणों का संचार होता है जिसके फलस्वरूप वो स्वयं के अतिरिक्त समाज में भी परिवर्तन लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा पाता है। गुरुदेव श्री आशुतोष महाराज जी एक पूर्ण सतगुरु है जिनकी कृपाहस्त तले अनेकों साधकों ने अपने घट के भीतर उस परमात्मा का साक्षात्कार किया है। दिव्य कुम्भ भी उनकी कृपा का साक्षी बना जहां कईं साधकों ने ब्रह्मज्ञान की दीक्षा को प्राप्त कर ईश्वर दर्शन किया। साध्वी जे ने बताया कि इन साधकों की ही भांति प्रत्येक ईश्वर पिपासु ब्रह्मज्ञान को प्राप्त कर ईश्वर का साक्षात्कार कर सकता है क्योंकि ईश्वर चर्चा का नहीं अपितु दर्शन का विषय है। कार्यक्रम में अतिथिगणों ने अपनी अपस्तिथि दर्ज करवाई:

  • श्री मनोहर लाल, श्रम एवं रोजगार मंत्री, उत्तर प्रदेश
  • श्री विजय किरण आनंद, डीएम, आईएएस, मेला अधिकारी, कुंभ, प्रयागराज 2019
  • श्री जय सिंह, आईएएस, प्रदर्शनी ऑफिसर, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय
  • श्री आर.बी. सिंह, संयुक्त निदेशक, कृषि, वरिष्ठ पीसीएस ऑफिसर
  • डॉ. पी.एल. सिंह, एसोसिएट प्रोफेसर, नैनी कृषि विश्वविद्यालय
  • श्री मनीष कुमार देओरा, एफसीए, चार्टर्ड एकाउंटेंट
  • श्री विनोद अग्रवाल, प्रान्त उपाध्यक्ष, वीएचपी
  • श्री धनंजय वर्मा, एस.एच.ओ, सेक्टर -7, गंगेश्वर थाना, कुंभ मेला
  • श्री नंद लाल, सी. ओ. थाना, सेक्टर -7, कुंभ मेला
  • श्री पंकज कुमार राय, एसएचओ, सेक्टर-7, कुंभ मेला
  • श्री राजेश प्रसाद, एसडीएम, सेक्टर-7, कुंभ मेला
  • डॉ संजय कुमार सिंह, चिकित्सा ऑफिसर, सेक्टर-7, कुंभ मेला
  • श्री विजय जायसवाल, एस.डी.ओ जल विभाग , कुंभ मेला
  • श्री अमर बहादुर सिंह, एस.डी.ओ, बिजली विभाग
  • श्री प्रभात कुमार यादव, एस.डी.ओ, बिजली विभाग
  • डॉ. विवेक यादव, चिकित्सा विभाग प्रमुख, कुंभ मेला
  • प्रो. सी.पी. सिंह, निदेशक, बीबीएस
  • प्रो. डी.के. द्विवेदी , निदेशक, एन्थ्रोप्रीनियोरशिप सैल, शंभूनाथ विश्वविद्यालय
  • असिस्टेंट प्रो. आशुतोष श्रीवास्तव, प्रबंधक पी.आर शंभूनाथ विश्वविद्यालय
  • श्री मनोज गुप्ता, एक्स.ई.एन बिजली विभाग
  • श्री दिलीप कुमार त्रिगुणनायक, ए.डी.एम, कुंभ मेला
  • श्री  विनोद पांडे, उप निदेशक, सूचना कुंभ मेला
  • श्री बी.के. मिश्रा, कमांडेंट, होमगार्ड्स, प्रयागराज
  • श्री पवन उपाध्याय, अध्यक्ष, यूथ इंडिया फाउंडेशन, प्रयागराज
  • श्री अमित अग्निहोत्री, नोडल ऑफिसर, संस्कृति, कुंभ मेला
  • कमांडेंट श्री राजकुमार धर्मपत्नी सहित,रैपिड एक्शन फोर्स, 101 बटालियन आरएएफ
  • सहायक कमांडेंट श्री चंदन कुमार, शौर्य चक्र सम्मानित, 101 बटालियन आरएएफ, रैपिड एक्शन फोर्स
  • प्रो. राजेंद्र प्रसाद, कुलपति, इलाहाबाद विश्वविद्यालय
  • श्री  अनूप सिन्हा, बिजली विभाग
  • श्री  हर्षवर्धन, विधायक, प्रयागराज
  • श्री नेवेश, रेडियो जॉकी, बिग एफएम
  • श्री विक्रम सिंह, निदेशक, सुपरफास्ट न्यूज़ चैनल
  • स्मृति मालवीय, एचटी संवाददाता
  • श्री दीपक पटेल, पूर्व विधायक
  • श्री  जितेंद्र तिवारी, निदेशक, सेंट कोलंबस
  • श्री अब्दुल रफीक, निदेशक, सेंट पीटर
  • श्री जे.पी. अग्रवाल, अध्यक्ष एक्यूप्रेशर, शोध रिसर्च एवं  उपचार  संस्थान, इलाहाबाद
  • श्रीमती पूजा गुप्ता, निदेशक, एल.डी.सी पब्लिक स्कूल
  • श्री आशीष गोयल, आयुक्त प्रयागराज
  • श्री विनोद अग्रवाल, प्रान्त, वीएचपी
  • श्री एस.एन. स्वेत, ए.डी.जी जोन, प्रयागराज
  • श्री मोहित अग्रवाल, आईजी रेंज
  • श्री मुकेश, प्रांत संगठन मंत्री, वीएचपी
  • श्री ओम प्रकाश सिंह, एसपी, ट्रैफिक, कुंभ मेला

Subscribe Newsletter

Subscribe below to receive our News & Events each month in your inbox