Read in English

रुद्रपुर (उत्तराखण्ड): दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान के संस्थापक एवं संचालक श्री आशुतोष महाराज जी के दिव्य मार्गदर्शन में संस्थान के लिंग समानता एवं महिला सशक्तिकरण कार्यक्रम – संतुलन के अंतर्गत रुद्रपुर के सिटी क्लब में 29 दिसम्बर 2019 को ‘नारी तू नारायणी’ नामक भजन संध्या का आयोजन किया गया. इस कार्यक्रम का शुभारम्भ MLA श्री राज कुमार तुक्राल, DM श्री नीरज खैरवाल और संस्थान के प्रतिनिधि स्वामी उमेशानन्द जी ने दीप प्रज्ज्वलन द्वारा किया. श्री आशुतोष महाराज जी की शिष्या साध्वी गरिमा भारती जी ने महिलाओं के प्रति बढ़ते हिन्सा व अपराध के विषय को लेते हुए महिलाओं की सुरक्षा और सशक्तिकरण के आध्यात्मिक साधनों पर प्रकाश डाला.

Nari Tu Narayani – A Socio-Spiritual evening on How Empowering Women can Change the World!

नारी के अस्तित्व और गरिमा को समर्पित सुमधुर भजनों की श्रृंखला के मध्य साध्वी जी ने बड़े उन्दा ढंग से समाज में महिलाओं के प्रति संवेदना जागृत करने की आवश्यकता पर ज़ोर दिया. साथ ही, पुरातन भारत की तरह आज भी समाज में महिलाओं का स्थान और सम्मान स्थापित करने के लिए, साध्वी जी ने आध्यात्मिक जाग्रति को अनिवार्य बताया. साध्वी जी ने कहा, “केवल ब्रह्मज्ञान – आध्यात्मिक जाग्रति के सनातन विज्ञान द्वारा ही समाज में आमूलचूल परिवर्तन संभव हैं, और कोई मार्ग नहीं है”.

Nari Tu Narayani – A Socio-Spiritual evening on How Empowering Women can Change the World!

दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान, विश्व में शांति एवं बंधुत्व की स्थापना हेतु कार्यरत एक सामाजिक आध्यात्मिक संस्थान है जो अपने 9-बिंदु अभियान द्वारा समाज में व्यापक परिवर्तन ला रहा है. ये 9-बिंदु हैं – महिला सशक्तिकरण मुहीम; साक्षरता अभियान; सम्पूर्ण स्वास्थ्य कार्यक्रम; नशा उन्मूलन कार्यक्रम; पर्यावरण संरक्षण अभियान; भारतीय देसी गौ संरक्षण, संवर्धन एवं नस्ल सुधार कार्यक्रम; आपदा प्रबंधन कार्यक्रम; बंदी सुधार कार्यक्रम और नेत्रहीन एवं विकलांगों का सशक्तिकरण अभियान.

Subscribe Newsletter

Subscribe below to receive our News & Events each month in your inbox